भारतीय शुरुआती खिलौने जीवन

हस्तमैथुन सेक्स खिलोनो के फायदे? हस्तमैथुन या सेक्स, दोनों में से कौन है बेहतर, हस्तमैथुन से नुकसान, हस्तमैथुन के फायदे?

  • TOP
  • हस्तमैथुन सेक्स खिलोनो के फायदे? हस्तमैथुन या सेक्स, दोनों में से कौन है बेहतर, हस्तमैथुन से नुकसान, हस्तमैथुन के फायदे?

ONLINE SHOP

हस्तमैथुन सेक्स खिलोनो के फायदे?

हस्तमैथुन सेक्स खिलोनो के फायदे?

हस्तमैथुन स्वयं आनंद लेने का कार्य एक विषय है, जिस पर हमेशा बड़े पैमाने पर समाज द्वारा सवाल खड़े किए जाते रहे है. लेकिन वास्तविकता में यह कई लाभ प्रदान करता है. हस्तमैथुन यौन उत्तेजना को उत्प्रेरण करने और जननांगों को उत्तेजित करके इस से सुख प्राप्त करने के कार्य को दर्शाता है. यह आपके हाथों, सेक्स के खिलौने, उंगलियों या इनका प्रभाव के साथ समूह बनाने के लिए किया जा सकता है हस्तमैथुन भी एक सामान्य घटना है. इस विषय पर विभिन्न विचार हैं, चाहे वास्तविक यौन संबंध में अधिक आनंद का अनुभव हो या हस्तमैथुन से, यहां ये जानना जरूरी है कि आपके शरीर पर क्या प्रभाव है और ज्यादातर लोगों द्वारा सबसे अधिक पसंद किया गया है अध्ययन से पता चलता है कि संभोग से जुड़े कई स्वास्थ्य लाभों से जुड़े हैं जैसे कि आपके रक्तचाप के स्तर को नियंत्रित करना, पश्चाताप और हृदय को पुरुषों के लिए स्वस्थ रखने, दर्द निवारक के रूप में कार्य करना आदि. हस्तमैथुन आपके स्वास्थ्य को प्रभावित नहीं कर सकता है, जबकि सेक्स करता है. लेकिन इसमें निश्चित रूप से लाभ का एक अलग सेट होता है. जिसमें कैंसर को रोकने, प्रतिरक्षा बढ़ाने, समय से पहले स्खलन के जोखिम को कम करने आदि शामिल हैं।

हस्तमैथुन या सेक्स, दोनों में से कौन है बेहतर?

हस्तमैथुन या सेक्स, दोनों में से कौन है बेहतर?

ज्यादातर लोगों के मन में यह सवाल रहता है कि, हस्तमैथुन और सेक्स में से कौन ज्यादा बेहतर है। अगर सरल तरीके से नतीजे पर पहुंचा जाए तो सेक्स और हस्तमैथुन दोनों के फायदे सामान हैं लेकिन फिर भी, दोनों में बहुत बड़ा अंतर है। आइए जानते है कि, सेक्स और हस्तमैथुन में से आपके लिए कौन सा बेहतर है।हस्तमैथुन वह प्रक्रिया है, जिसमें आनंद लेने के लिए व्यक्ति अपने प्राइवेट पार्ट्स को छूकर शरीर में उत्तेजना उत्पन्न करता है। औसतन 17 वर्ष की आयु के बाद से प्रत्येक लड़के और लड़कियां हस्तमैथुन करने लगते हैं। ठीक समय पर हस्तमैथुन करते रहने से हमें किसी भी तरह का नुकसान नहीं होता है।

कई लोगों का यह सवाल होगा कि, आखिर सेक्स हस्तमैथुन से अधिक बेहतर क्यों है। हस्तमैथुन सेक्स से बेहतर इसलिए नहीं है क्योंकि, यह हाथों से किया जाता है। खुद के हाथों से शरीर को उत्तेजना दिलाने में व्यक्ति को बहुत अधिक समय लगता है। इसके बाद भी अगर व्यक्ति उत्तेजित नहीं होता है तो वह उत्तेजना पाने के लिए ब्लू फिल्में देखता है। लेकिन सेक्स करने के दौरान हमारे शरीर में उन सभी हार्मोन का स्त्राव भारी मात्रा में होता है जो हमे खुशी देते हैं और अन्य फायदे पंहुचाते हैं।

सेक्स करने के लिए एक पार्टनर चाहिए होता है और पार्टनर की वजह से ही यह हस्तमैथुन से बेहतर है। सेक्स करने के लिए हमे सबसे अधिक उत्तेजना मिलती है क्योंकि, पार्टनर का प्राइवेट पार्ट्स में टच और उसके शरीर की गंध हमारे उत्तेजना को बढ़ाने का काम करती है। हस्तमैथुन ठीक इसके विपरीत है। हस्तमैथुन में व्यक्ति को सारी मेहनत अकेले करनी पड़ती है और वो जल्दी थक जाता है।

अगर आपके पास कंडोम नही है तो हस्तमैथुन करना ही आपके लिए बेहतर होगा। कंडोम न होने पर हस्तमैथुन करने से, आप अनचाहे प्रेगनेंसी से बच सकते हैं साथ ही गुप्त रोग से बच जाएंगे।

हस्तमैथुन से नुकसान?

हस्तमैथुन  से नुकसान?

हस्तमैथुन से लिंग कमजोर हो जाता है, जिसका असर कई बार यौन संबंध बनाने पर दिखता है। हद से ज्यादा हस्तमैथुन करने से शीघ्रस्खलन की समस्या उत्पन्न हो सकती है। ज्यादा हस्तमैथुन आपको शारीरिक रूप से दुर्बल बनाता है। अति हस्तमैथुन महिलाओं के यूटरस को कमजोर कर सकता है। जिससे कई बार कंसीव करने में दिक्कत आ सकती है। इससे बाल झड़ने की समस्या भी हो सकती है।

हस्तमैथुन के फायदे

 हस्तमैथुन  के फायदे

चाहे महिला हो या पुरुष, यह आसानी से दोनों का तनाव कम करता है। कहते हैं, शरीर में ज्यादा शुक्राणुओं का संचय होने से व्यक्ति बीमार हो सकता है, ऐसे में हस्तमैथुन करना सही होता है। कुछ शोध बताते हैं कि नियमित स्खलन से प्रोस्टेट कैंसर का खतरा कम हो सकता है, हालांकि इन दोनों के बीच क्या संबंध है इस पर अभी भी शोध जारी है। प्रेग्नेंसी के समय हार्मोन परिवर्तन के कारण कुछ महिलाओं में सेक्स की इच्छा बढ़ जाती है। इस समय यौन तनाव से राहत पाने का एक आसान और सुरक्षित तरीका है। हस्तमैथुन करने से जो खुशी और संतुष्टि प्रदान करते हैं। साथ ही यह आपके मस्तिष्क के कुछ हिस्सों को सक्रिय भी करते हैं। हस्तमैथुन करने के न सिर्फ शारीरिक फायदे हैं, बल्कि मानसिक रूप से भी इसके फायदे देखने को मिलते हैं।