भारतीय शुरुआती खिलौने जीवन

क्यों सेक्स पर बात नहीं करतीं भारतीय महिलाएं?महिलाये सेक्स को हमारी संस्कृति का हिस्सा नहीं समझती?कामसूत्र और भारतीय महिलाओं का सेक्स खिलोनो की तरफ रुझान?

  • TOP
  • भारतीय महिलाएं सेक्स पर बात नहीं करतीं?कामसूत्र और भारतीय महिलाओं का सेक्स खिलोनो की तरफ रुझान और सेक्स खिलोनो का उपयोग?

MENU

क्यों सेक्स पर बात नहीं करतीं भारतीय महिलाएं?

क्यों सेक्स पर बात नहीं करतीं भारतीय महिलाएं?

भारत में धर्म शास्त्र वदिक पुराणों के हिसाब से लोग अपनी संस्कृति को बनाये रखते है। भारतीय लोग काफी शर्मीले स्वभाव के होते है। लोग किसी से भी खुलकर बात नहीं करते खासकर सेक्स जैसी बात पर तो वे किसी से बात नहीं करते। सेक्स एक ऐसा विषय है जिस पर कोई भी बात नहीं करना चाहता खासकर महिलाये भारत में पुरुष सेक्स की बाते व इच्छा जाहिर कर लेता है परन्तु महिला किसी से भी अपनी इच्छा जाहिर नहीं करती। भारत में महिलाये अपने से ज्यादा दुसरो के बारे में ज्यादा सोचती है। महिलाएं सेक्स के विषय पर बात करने से कतराती है उन्हें शर्म महसूस होती है, महिलाये सामाजिक कारणों के कारण भी सेक्स के बारे में बात नहीं कर पाती। भारतीय महिलाये अपने चरित्रः पर किसी भी दाग ऊँगली उठाना नहीं चाहती। महिलाओं को लगता है की सेक्स की बात करने पर उनको चरित्रहीन समझा जायेगा उनके चरित्र के पर दाग लग न जाये इस बात से डर के व सेक्स की बात नहीं करती।

क्या भारतीय महिलायो में जानकारी का अभाव है या इसे अत्यंत निजी बात समझती है ?

क्या भारतीय महिलायो में जानकारी का अभाव है या इसे अत्यंत निजी बात समझती है ?

भारत में सेक्स को एक अलग ही नजरिये देखा जाता है सेक्स के विषय पर बात करने वालो को भी एक अलग रूप से देखा जाता है। भारत में बच्चो को सेक्स के विषय से बहुत ही दूर रखा जाता है। उनके सामने इस विषय बात करना भी ठीक नहीं समझते। भारतीय महिलाओं में सबसे ख़ास बात यह कि किसी भी हाल में वह अपने चरित्र पर दाग नहीं लगने देती. अगर वह सेक्स जैसे विषय पर खुलकर बात करेंगी तो लोग उनके चरित्र को गलत समझेंगे, वह परिवार को लेकर भी चुप रहती है उन्हें लगता है कि वह अगर सेक्स को लेकर किसी से बात करती है तो उसके परिवार वाले उसके बारे में क्या सोचेंगे| महिलाये अगर घर में सेक्स पर खुलकर बात करेगी तो घर के छोटे बच्चों पर गलत असर पड़ेगा। समाज में सेक्स के बारे में बात करने वाली लड़कियों को चरित्रहीन समझा जाता है इससे उनकी शादी होने में परेशानी हो जाती है इन कारणों से महिलाये सेक्स की बाते नहीं करती।

क्या भारतीय महिलाये सेक्स को हमारी संस्कृति का हिस्सा नहीं समझती ?

क्या भारतीय महिलाये सेक्स को हमारी संस्कृति का हिस्सा  नहीं समझती ?

भारतीय समाज में परिवार के मूल्यों और इज्जत की जिम्मेदारी महिलाओं के कंधों पर ही डाल दिया जाता है। वो अपने जीवन में भले ही जाहिरी तौर पर आजाद हों, लेकिन मानसिक रूप से वो अपने परिवार के मूल्यों के साथ बंधी होती हैं। उनको लगता है कि अगर उन्होंने सेक्स पर खुलकर बात की तो उनके परिवार वालों को शर्मिंदगी उठानी पड़ेगी। लोग उस पर उनके परिवार वालो पर ऊँगली उठाएंगे।भारत में ऐसी महिलाओं की कमी नहीं है जो सेक्स को भारतीय संस्कृति के साथ नहीं जोड़ती। ऐसी महिलाओं को लगता है कि सेक्स पर बात करना अमेरिका या फिर किसी और देशो की संस्कृति का हिस्सा है। हमारी भारतीय संस्कृति में सेक्स के लिए कोई जगह नहीं है। इसलिए वो इस पर बात नहीं करती।

भारतीय महिलाओं का सेक्स खिलोनो का उपयोग?

भारतीय महिलाओं का सेक्स खिलोनो का उपयोग?

भारत में भले ही सेक्स को और सेक्स जुडी बातो को गलत मन जाता है परन्तु कई भारतीय महिलाये ऐसी भी है जो बिना किसी से जाहिर किये सेक्स खिलोनो का उपयोग कर सेक्स का आनंद और सुख प्राप्त करती है।कई महिलाये अपने साथी के साथ भी सेक्स खिलौना का उपयोग कर सेक्स की संतुष्टि प्राप्त करते है।महिलाओं के लिए भी कई खिलोने है जैसे डिलडो, बुलेट वाइब्रेटर, स्टेप ऑन, डबल डाँग, विशाल डिलडो ,वाइब्रेटरखिलोने आदि| समलैगिंक महिलाओं के स स्टेप ऑन खिलोने बहुत अच्छे खिलोने होते है। सेक्स खिलोनो पर कंडोम का उपयोग भी कर सकते है।

कामसूत्र और भारतीय महिलाओं का सेक्स खिलोनो की तरफ रुझान?

कामसूत्र और भारतीय महिलाओं का सेक्स खिलोनो की तरफ रुझान?

भारत में सेक्स का इतिहास बहुत पुराना है।भारत में वात्स्लय द्वारा लिखी गयी कामसूत्र पुस्तक जिसमे सेक्स अलग अलग क्रियाओ कलाओं के बारे में रचा गया है।प्राचीन अजंता की गुफा, खुजराओ का मंदिर आदि में सेक्स क्रिया की निम्न प्रकार की मुर्तिया बनी हुई है।परन्तु फिर भी भारत में सेक्स को एक अलग ही नजरिया दिया गया हुआ है। भारत में भले ही कामसूत्र रचा गया हुआ परन्तु महिलाओं को सीता और अहिल्या का त्याग याद आ जाता है। भारतीय महिलाये दुनिया की लोक -लाज के कारण ना चाहते हुए भी सेक्स के विषय में बात नहीं कर पाती। भारत में ऐसी कई महिलाये है| जो सेक्स का सुख प्राप्त करना चाहती है परन्तु शर्म के कारण महिलाये अपनी सेक्स इच्छा को दबाये रखती है। ऐसी महिला पुरुषो के लिए जो सेक्स का सुख लेना चाहते है उनके लिए सेक्स खिलोने मौजूद है जो उनकी यह समस्या दूर कर बिना किसी से जिक्र किये सेक्स का आनंद ले सकते है। सेक्स खिलोने भिन्न- भिन्न प्रकार के होते है। जिनका उपयोग अकेले में और साथी के साथ भी कर सकते है।सेक्स खिलोने योनि खिलोने,लिंग खिलोने ,गुदा खिलोनेआदि सभी होते है| महिलाओं के लिए भी कई खिलोने है जिनका उपयोग महिलाये कर सकती है महिलाये हस्तमैथुन खिलोनो का उपयोग का सकती है| जिनसे उन्हें आनंद और योनि मालिश का काम करती है| जिसे उन्हें आराम भी मिल सकता है।पुरुषो के लिए भी कई खिलोने है| जो लोग सेक्स और सेक्स खिलोनो का उपयोग कर के ऊभ चुके है वे लोग बंधन सेक्स बीडीएसएम, एसएम खिलोने, बंधन टेप बीडीएसएमका उपयोग कर सेक्स को अलग प्रकार से कर के आनंद ले सकते है।सेक्स खिलोने सेक्स की उत्तेजना व आनंद बढ़ाने के काम आते है।