भारतीय शुरुआती खिलौने जीवन

हस्तमैथुन खिलौना क्या है? सूचना जो शुरुआती भी समझ सकते हैं |पुरुषो व महिलाओं के हस्तमैथुन खिलोने|

  • TOP
  • हस्तमैथुन खिलौना क्या है? सूचना जो शुरुआती भी समझ सकते हैं|

MENU

मैं मास्ट्रिबेटर खिलौना सिखाऊंगा जो कि हर किसी को आसानी से समझ नहीं आती।

मैं मास्ट्रिबेटर खिलौना सिखाऊंगा जो कि हर किसी को आसानी से समझ नहीं आती।

हस्तमुथैन करना प्राकृतिक है। मानसिक तनाव शाररिक समस्या वे शरीर को आनंद महसूस करने का ये प्राकृतिक तरीका है। हस्तमेतून सभी लिंग जाती के लोग करते है। इसे योन तनाव दूर होते है। हस्तमेतून एक योन गतिविधि माध्यम है। इसे कोई नुकसान नहीं होता है। हस्तमैथुन से एक बेहतर यौन संबंध बनाने का मौका मिलता है,इससे उन महिलाओं को भी मदद मिलती है जिन्हें ऑर्गेज्म नहीं होने की समस्या होती है|हस्तमैथुन खुद को अच्छा एहसास कराने का प्रकृतिक तरीका है|इससे आप खुद को खुशी देते हैं|इसे बेहद निजी मामला माना जाता है|

इसे लड़के और लड़कियां दोनों ही करते हैं|लड़कों में 17 साल की उम्र के बाद इसे करने की इच्छा बढ़ने लगती है,हालांकि कुछ युवा ऐसा नहीं करते है।

हस्तमैथुन करने के खिलोने हस्तमैथुन पुरुष और महिला दोनों ही करते हैं। यह एक सुरक्षित सेक्स क्रिया है जिससे महिला को गर्भ ठहरने का डर नहीं होता और पुरुष बिना साथी के खुद को संतुष्टि देने का प्राकृतिक साधन है। हस्तमैथुन साथी के साथ भी किया जाता है।

किस तरह का हस्तमैथुन खिलौना है?

किस तरह का हस्तमैथुन खिलौना है?

हस्थमैथुन करना प्राकृतिक किर्या है। मानसिक तनाव शाररिक समस्या वे शरीर को आनंद महसूस करने का ये प्राकृतिक तरीका है। आजकल लड़के-लड़कियों के सरीर का विकास बहुत तेज़ी से होता है ,इसलिए हस्तमैथुन की आदत बालावस्था से ही पड़ जाती है। नियंत्रित हस्थमैथुन से शरीर पे कोई विपरीत असर नहीं पड़ता है। आजकल हस्तमैथुन के बहुत हस्तमैथुन खिलोने बाजार में उपलब्ध है चाहे महिला हो या पुरुष सभी के लिए सेक्स खिलोना होते है।

पुरुषो के हस्तमैथुन खिलोने:

कृत्रिम वेजिना: यह खिलौना बहुत ही लोचदार है, यह पूरी तरह जेली की खुशबू के जैसा मुलायम होता है। ये सिलोकोन रबड़ से बना हुआ होता है।

मेल मस्टुर्बुटर्स: ये एक ऐसी वस्तु है जिससे पुरुष अपनी दुगुनी ताकत के साथ वेजिना का आनंद ले सकता है। ये हस्थमैथुन के समान काम करता है। ये कोमल व टीपीआर से बना होता है।

कॉक रिंग्स: इनका उपयोग बेहतर उन्माद के लिए किया जाता है। इसका डिज़ाइन छल्ले के समान होता है तथा योन सुख के लिए किया जाता है।

रेयलिस्टिक्स बूट्स: इसका प्रयोग अपनी सेक्स अनुभूति को ज्यादा समय तक बनाये रखने के लिए किया जाता है। इसमें जो छिद्र पाए जाते है उनमे आंतरिक अनुभूत का समावेश होता है।

सेक्स रोबोट: यह भी एक सेक्स खिलौना है जो बहुत ही कामुक उत्पाद है। ये पुरुषो की कमोत्तेजना को भी प्रभावित करता है। पॉकेट पुसीस- पुरुषों का हस्तमैथुन करने वाला भी कहा जाता है। इसे मुलायम पदार्थों से बनाया जाता है, ताकि यह पुरुषों को योनि की तरह ही एहसास कराए|

महिलाओं के हस्तमैथुन खिलोने

जी स्पॉट वाइब्रेटर: इसके मदद से सर्वाधिक योनि आंनद लेने का सुख मिलता है। साथ ही इसका उपयोग तेज़ उत्तेजना क लिए किया जाता है ।

अनल टॉयज: इससे महिलाओं को सर्वाधिक योन सुख मिलता है। इसके जरिए इसमें पायी जाने वाली घुमावदार सरंचना इनको अधिक उत्तेजित करती है। ये उत्पाद वेजिना में कम्पन उत्पन्न करता है। यह हस्तमैथुन का बहुत सुख देती है।

विमेंस वाइब्रेटर्स: अपने योन सुख को बढ़ाने के लिए इनको अपनी योनि में कम्पन चाहिए जिससे इनको अधिक कामोन्माद की जरूरत न हो उसी की कमी ये वाइब्रेटर्स पूरी करता है। अपनी योन संवेदना को अधिक उत्तेजित बनाने के लिए ये वाइब्रेटर्स इसकी मदद करता है।

निप्पल टॉयज: इनका प्रयोग अपने ब्रैस्ट का पूरी तरह से आनंद लेने के लिए क्या जाता है। अपने ब्रैस्ट को जोर से प्रेस कर अधिक उत्तेजित करना चाहती है।

रैबिट वाइब्रेटर्स: इसके आकर रैबिट जैसा होता है। इसका पूरा असर वेजिना पर पड़ता है, ये हस्तमैथुन के साथ - साथ ही यह अपने उत्तेजना के अनुसार वाइब्रेट को कम या ज्यादा का पॉइंट होता है जिससे कामुक सवेदना उत्तेजित होती है।

मुझे नहीं पता कि मैं खुद के लिए क्या कर सकता हूं।

मुझे नहीं पता कि मैं खुद के लिए क्या कर सकता हूं।

विशेषज्ञों का मानना है कि हस्तमैथुन एक स्वस्थ सेक्स जीवन का हिस्सा है,हस्तमैथुन हाथ या अन्य किसी चीज़ से यौन आनंद प्राप्त करने का तरीका होता है.हस्तमैथुन हाथ से की जाने वाली सेक्स की प्रक्रिया होती है, हस्तमैथुन से कोई नुकसान नहीं होता है।

कई समाजों में आमतौर पर इसे अनैतिक और हानिकारक माना जाता है. लेकिन विशेषज्ञों की राय उलट है और वे इसे सुख की अनुभूति के साथ-साथ पुरुषों और महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए फ़ायदेमंद भी मानते हैं।महिलयो को हस्तमैथुन से मासिक धर्म से जुड़ी परेशानियों को दूर करने में मिल सकती है. मासिक धर्म के दौरान होने वाले दर्द से हस्तमैथुन से निकलने वाले रसायन की वजह से राहत मिलती है|

जिनको हस्तमैथुन करने के बाद ख़ुशी मिलती है. हस्तमैथुन के बाद आपको अगर अच्छा फील होता है और आप खुद के प्रति अच्छा महसूस करते हो तो यह करना आपके लिए सही है. इस स्थिति में आप खुद को संतुष्ट महसूस करते हो,.हफ्ते या महीने में कभी कभार हस्तमैथुन करना चाहिए। जो लोग हफ्ते या महीने में कभी कभार हस्तमैथुन करते है उनके लिए यह कुछ भी गलत नहीं करता. उनके बॉडी के लिए बस यह एक सामान्य प्रोसेस होती है। जो लोग हस्तमैथुन अपने बॉडी की मांग के हिसाब से करते है उनके लिए हस्तमैथुन करना कोई गलत बात नहीं है,वे लोग हस्तमैथुन तभी करते है जब बॉडी को जरूरत हो तभी हस्तमैथुन करना सही मानते है।

क्या भारत में हस्तमैथुन खिलौना लोकप्रिय है?

क्या भारत में हस्तमैथुन खिलौना लोकप्रिय है?

हस्तमैथुन करना सामन्य बात होती है, इसे सभी लिंग जाती के लोग करते है। हस्तमैथुन करने से शरीर में होने वाली योन भावनाओ का आनंद वे सुख प्राप्त किया जाता है।हस्तमैथुन करने से तनाव, योन तनाव, आपसी सम्बन्ध सही रहते है।हस्तमैथुन करने कोई नुकसान नहीं होता है।भारत में भी हस्तमैथुन करते है। महिला- पुरुष सभी लोग हस्तमैथुन करते है। कुछ लोग हस्तमैथुन अपने हाथो से करते है, कुछ घरेलु सामग्री से, कुछ सेक्स खिलोनो से करते है। भारत में हस्तमैथुन करने लिए काफी खिलोने लोकप्रिय है जैसे- गुदा खिलौना,प्रोस्टेट मसाजर,डोंग खिलौना,बुलट वाइब्रेटर,मैजिक वाइब्रेटर,जी स्पॉट, लिंग खिलौने ,बीडीएसएम खिलौने आदि |

जी स्पॉट वाइब्रेटर: इसके मदद से सर्वाधिक योनि आंनद लेने का सुख मिलता है। साथ ही इसका उपयोग तेज़ उत्तेजना क लिए किया जाता है ।

अनल खिलौना-: इससे महिलाओं को सर्वाधिक योन सुख मिलता है। इसके जरिए इसमें पायी जाने वाली घुमावदार सरंचना इनको अधिक उत्तेजित करती है। ये उत्पाद वेजिना में कम्पन उत्पन्न करता है। यह हस्तमैथुन का बहुत सुख देती है।

मैजिक वाइब्रेटर - थरथानेवाला खिलौना अपने योन सुख को बढ़ाने के लिए महिलाये अपनी योनि में कम्पन पैदा करने के लिए इसका इस्तेमाल करती है। जिससे इनको अधिक कामोन्माद की जरूरत न हो उसी की कमी ये वाइब्रेटर्स पूरी करता है। अपनी योन संवेदना को अधिक उत्तेजित बनाने के लिए ये वाइब्रेटर्स इसकी मदद करता है।

पॉकेट पुसीस- पुरुषों काहस्तमैथुन करने वाला भी कहा जाता है। इसे मुलायम पदार्थों से बनाया जाता है, ताकि यह पुरुषों को योनि की तरह ही एहसास कराए।

मेल मस्टुर्बुटर्स: ये एक ऐसी वस्तु है जिससे पुरुष अपनी दुगुनी ताकत के साथ वेजिना का आनंद ले सकता है। ये हस्थमैथुन के समान काम करता है। ये सिलकोन पदार्थ से बानी हुई होती है। हस्तमैथुन करना सामन्य बात होती है, इसे सभी लिंग जाती के लोग करते है। हस्तमितुं करने से शरीर में होने वाली योन भावनाओ का आनंद वे सुख प्राप्त किया जाता है।हस्तमैथुन करने से तनाव, योन तनाव, आपसी सम्बन्ध सही रहते है।हस्तमैथुन करने कोई नुकसान नहीं होता है।भारत में भी हस्तमैथुन करते है। महिला- पुरुष सभी लोग हस्तमैथुन करते है। कुछ लोग हस्तमैथुन अपने हाथो से करते है, कुछ घरेलु सामग्री से, कुछ सेक्स खिलोनो से से करते है।

उपयोग के बाद साफ करें

उपयोग के बाद साफ करें

महिलाये हस्तमैथुन का आनद उठाने के लिए विभिन तरीके अपनाती है ,जैसे की कुछ अपने हाथो या ऊँगली से करती है,कुछ वयसक खिलौना का उपयोग करती है ,कुछ घरेलु सामान से पेंसिल,मोमबत्ती,सब्जिया यानि बैंगन,गाजर,मूली,बोतल इतियादी । कुछ महिलाये हस्तमैथुन का आनंद बढ़ने के लिए या चरम सुख प्राप्ति के लिए तरल पधारते को काम में लेती है जैसे घी,थूक ,पानी ,लुब ,तेल इतियादी ।चरम सुख की प्राप्ति के बाद महिलाओं की योनि में वीर्य इकठा हो जाता है ,या कुछ वयसक खिलोने साफ नहीं होते है उनसे योनि में सक्रमण फैलने का खतरा रहता है ।अगर योनि को अच्छे से साफ नहीं किया जाये तो सक्रमण से बहुत सी बीमारिया हो सकती है ,जिनसे बचने के लिए, महिलाये कंडोम का इस्तेमाल भी कर सकती है।

निम्नलिखित उपायों को काम में लेना चाहिए।:

  • -हस्तमैथुन करने से पहले अपने हाथो और योनि को साबुन से साफ कर ले ।
  • - अगर योनि के बल बड़े है तो उन्हें साफ कर ले
  • -अगर हाथो के नाख़ून बड़े है तो उन्हें काट लेना चाहिए जिससे योनि में जखम होने का खतरा नहीं रहता ।
  • - मोमबत्ती का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, क्योकि मोमबत्ती का योनि में टूट जाना का खतरा हो सकता है
  • - सब्जियों का इस्तेमाल ध्यान से करना चाहिए।
  • -लुब्रिकेंट का इस्तेमाल अधिक समय तक नहीं करना चाहिए।
  • -ज्यादा देर तक तरल पदार्थ अंदर रहने से सूजन पैदा हो सकती है इसलिए हमेसा फुहारे से पानी मार मार के योनि को अच्छे से साफ करना चाहिए ।
  • -खिलोनो का इस्तेमाल करने से पहले खिलोनो अच्छे साफ़ कर लेना चाहिए।
  • - कई खिलोने अलग अलग पदार्थ से बने हुए होते उनसे संक्रमण होने का डर रहता है।
  • हस्तमैथुन करते समय पुरुषो को भी खास ध्यान देना चाहिए
  • -ज्यादा तेज़ी से पुरुषो को लिंग नहीं हिलना चाहिए
  • - ज्यादा कसकर लिंग को नहीं पकड़ना चाइये इसे लिंग की मासपेशिया टूटने का खतरा हो सकता है।
  • -लिंग को ज्यादा नहीं घूमना चाहिए।
  • -खिलोनो इस्तेमाल सही तरीके से करना चाहिए।
  • -खिलोने का इस्तेमाल करने से पहले वे बाद में खिलोनो को अच्छे से साफ़ करना चाहिए।