भारतीय शुरुआती खिलौने जीवन

लिंग खिलौना क्या है? सूचना जो शुरुआती भी समझ सकते हैं |भारत में मानक लिंग आकार और लोकप्रिय लिंग खिलोने|

  • TOP
  • लिंग खिलौना क्या है? सूचना जो शुरुआती भी समझ सकते हैं | भारतीय शुरुआती खिलौने जीवन|

MENU

मैं लिंग के खिलौने को सिखाऊंगा जो कि सभी को आसानी से समझ में नहीं आता |

मैं लिंग के खिलौने को सिखाऊंगा जो कि सभी को आसानी से समझ में नहीं आता |

सामान्य तौर पर इसको लिंग की रिंग कहा जाता है।जो कॉक रिंग कम्पन खिलोना कई तरह के प्रकार में आती है। इसका उपयोग पुरूष अपने लिंग को बेहतर बनाने और सेक्स के समय अधिक यौन सुख भोगने के दौरान इस्तेमाल करते है। इससे शरीर में स्फूर्ति बनी रहती है| सेक्स वयस्क खिलौने खिलोने अकेला पन को दूर कर वे सेक्स का आनंद लेने के लिए होता है। सेक्स खिलोने की मदद से सेक्स की जिज्ञासा बढ़ा वे कम कर सकते है। सेक्स खिलोने कई प्रकार के उपलबध है। महिलाओं सेक्स खिलोने, पुरुषो के सेक्स खिलोने,हस्तमैथुन खिलौना,डोंग खिलौना,समलैगिंग पुरषो खिलोने. विषमलैंगिंग महिलाओं के सेक्स खिलोने सभी के अलग अलग प्रकार के सेक्स खिलोने होते है। कुछ खिलोने ऐसे जो स्त्री पुरुष दोनों सेक्स खिलोने का इस्तेमाल कर सकते है। कुछ खिलोनो का इस्तेमाल अकेले भी भी कर सकते है। जनन अंगो के अलग अलग प्रकार के खिलोने उपलब्द है-जैसे गुदा खिलौने, सेक्स खिलौना, लिंग के खिलोने, निप्पल खिलोने आदि कई प्रकार के खिलोने होते है।लिंग के खिलोने विशेष प्रकार वे आ कर के होते है। कन्डोम, कॉक रिंग,कॉक रिंग कई प्रकार की होती, कॉक लैदर रिंग,सिल्वर कॉक रिंग आदि |

स्टील कॉक रिंग-

स्टील कॉक रिंग अन्य कॉक रिंग से कठोर होते है, स्टील कॉक रिंग लिंग के आकर का ही लेना चाहिए सही आकर लेने से ये लिंग में फिट हो जाता है, इसे मजबूती बनी रहती है।

लैदर कॉक रिंग-

ये चमड़े से बना हुआ होता है,लिंग में पहनकर इसे ढीला,वे टाइट कर सकते है,ये पसीना भी सुख लेता है।

सिलकोन कॉक रिंग-

सिलकोन रिंग एक लिंग अंगूठी है जो धीरे-धीरे लिंग को गले लगाती है यह सिलिकॉन है इसलिए यह स्वच्छता के लिए बढ़िया है। ऐसे कई प्रकार के कॉक रिंग उपलब्द है जिनके इस्तेमाल से सेक्स ज्यादा समय तक कर सकते है कॉक रिंग से मजबूती बनी रहती है।

किस प्रकार का लिंग खिलौना है?

किस प्रकार का लिंग खिलौना है?

कई प्रकार के लिंग खिलोनेे उपलब्द है, बड़े छोटे, पतले, मोठे, कठोर, मुलायम,रबड़ आदि लिंग के आकर के होते है,लोग अपने लिंग के आकर कॉक खिलोनो का उपयोग करते है। लिंग खिलौना इस्तेमाल करने से पहले उसकी पूरी जानकारी होनी आवश्यक है। खिलोनो के इस्तेमा से सेक्स को और रोमांचिक बना सकते है।लिंग खिलोने विशेष प्रकार वे आकर के होते है। जैसे कॉक रिंग, ,स्टील रिंग, आदि ।

कॉक रिंग-

ये लिंग के छोटे छल्लेनुमा लिंग पर पहनने के छोटे और पतले खिलोने होते है। यह लिंग पर फिट हो जाते है। ये धमनियों पर नियंत्रण रखता है।जिससे आप लंबे समय तक योन सुख का आनद ले सकते हो।

स्टील कॉक रिंग-

ये स्टील की बनी हुई होती है, इसे लिंग में अच्छी पकड़ बनी रहती है, सिल्वर स्टील के बने होने से ये काफी कठोर होता है। जो लिंग को मजबूती देता है। पुरुष के साथ साथ महिलाये भी इसे काफी उत्तेजित रहती है। इससे महिलाओं की योनि में घर्षण पैदा होता है ,इसलिए महिलाये को संतुस्ट करने के बहुत अच्छा खिलौना है।

लेदर कॉक रिंग-

यह चमड़े से बना हुआ छल्लेदार लिंग पर पहनने का चमड़े का बेल्ट है। यह गर्म होने की वजह से यह निकलते हुए पसीने को सूखता है। इसका इस्तेमाल ज़्यदातर सर्दियों में होता है।इसको आसानी से पहना और उतारा जा सकता है।

सिलकॉन वाइब्रेटिंग रिंग जो कि लिंग पहनने के साथ ही अपना असर दिखाना शुरू करती है। ये आम कॉक रिंग से बड़ी और मजबूत होती है। इसमें एक वाइब्रेटिंग सेन्सर काम करता हैं जो सेक्स की उत्तेजना का काफी बढ़ा देता है।सेक्स करते समय योनि में कम्पन पैदा होता है,जो महिलयो को जल्दी रस्खलन में मदद करता है ,और उन चरम योन सुख का आनंद आता है ।

मुझे नहीं पता कि मैं खुद के लिए क्या कर सकता हूं।

मुझे नहीं पता कि मैं खुद के लिए क्या कर सकता हूं।

अपनी महिला मित्र को संतुस्ट करने के लिए लिंग का आकार,मोटापन ,लम्बाई ,सेक्स करने में व्यतीत समय बहुत उपयोगी होता है ।अगर आप अपनी महिला मित्र को संतुस्ट नहीं कर प् रहे हो तो इस के लिए आप विभिन प्रकार के लिंग के लिए बने खिलोनो को प्रयोग में ले सकते हो ।जैसे लिंग का मोटापन भड़ाने के लिए लिंग आस्तीन या कंडोम का उपयोग कर सकते हो । सेक्स टाइम को बढ़ाने के लिए लिंग छल्ले को उपयोग में ले सकते हो और अपने दाम्पत्य जीवन बी डी एस एम खिलौने को सुखी बना सकते हो । लिंग में रिंग पहनकर व्यक्ति भरपूर जोश के साथ काफी समय तक सेक्स का आनंद ले सकता है। लिंग रिंग खिलोने बहुत प्रकार के होते है, स्टील,रबड़,प्लास्टिक, लेदर, सिलकोन, अन्य धातु आदि के बने हुए होते है। कुछ छल्ले ऐसे होते है जिनको लिंग में पहनते ही असर होने लग जाता है |

सिलकॉन वाइब्रेटिंग छल्ला-

इसका असर लिंग में पहनते ही हो जाता है ये लिंग में कम्पन करता है,इसके इस्तेमाल से महिला भी उत्तेजित होती है।

प्रो सेन्सुअल एडजस्टेबल-

यह आसानी से लिंग के अनुसार लिंग के आकार में फिट हो जाती है, तथा लिंग आकार में यह फिट होती है। इसे उत्तेजना का अनुभव होता है। योन कार्य होने के बाद इसे लिंग से हटाया भी जा सकता है।

और भी कई प्रकार के लिंग छल्ले उपलब्ध है।

स्टील रिंग-

ये स्टील का बना हुआ छल्ला होता है, ये काफी कठोर होता है।लिंग में पहने से यह लिंग को मजबूती भी देता है।

जिन पुरुषो या महिलाओ को सेक्स करते समय कोई आनंद या संतुष्टि प्राप्त नहीं होती वे विभिन विभिन प्रकार के कंडोम का भी इस्तेमाल कर सकते है कंडोम कई प्रकार के बाजार में उपलब्द है, जैसे - मोटा, पतला, लम्बा , लिंग के आकार का, अधिक चिकनाई युक्त, वाइब्रेटर कंडोम आदि ।कंडोम के इस्तेमाल सूखेपन की कमी भी दूर हो जाती है। चिकनाई की कमी को दूर करता है। रिंग खिलोनो के इस्तेमाल स्त्री-पुरुष वे अन्य सभी अपनी सेक्सुली लाइफ को रोमांचिक बना सकता है।

भारत में मानक लिंग आकार क्या है?

भारत में मानक लिंग आकार क्या है?

अलग अलग देशो के व्यक्तियों के वहा के खानपान ,मौसम ,हवा पानी ,वनस्पति के हिसाब से शरीर की लम्बाई ,मोटाई निर्भर करती है ।भारत गरम जलवायु वाला देश है ,यहाँ के लोगो की कद काठी अच्छी होती है ।उनके कद काठी के हिसाब से उनके लिंग का आकार भी सामान्य या सामान्य से ज्यादा होता है ।सामान्य महिलाओं के डॉन्ग खिलौने लिंग का आकार 4.5" - 5" तक होता है, महिलाओ की योन संतुस्टी के लिए ये आकार काफी होता है। इस लिंग आकार से वे किसी भी महिला को संतुष्ट कर सकता है।जो कपल्स लिंग के आकार से संतुस्ट नहीं है वो फोरप्ले ज्यादा करके सेक्स का आनंद बढ़ा सकते है ,जैसे नितम्बो को चूस के ,योनि में ऊँगली करके,किश करके,लिंग को अपने साथी के मुँह में देके,हाथो से सहला के आदि। कई प्रकार से सेक्स का मज़ा लेते है। अपनी सेक्स लाइफ को आगे बढ़ाते है। कुछ लोग कंडोम का भी इस्तेमाल काफी करते है। कंडोम काफी प्रकार के बाजार में उपलब्ध है। कंडोम हमेशा अपने लिंग के आकार के अनुसार ही खरीदना चाहिए ,जिससे आप योन सुख का आनंद ले सके।कंडोम लिंग के आकार का नहीं पहनने से वीर्य कंडोम से बहार आ सकता है ,या वो फट सकता है, कुछ कंडोम दानेदार होते है जो योनि में जाकर महिलाओं के वाइब्रेटर्स खिलौने कम्पन पैदा करता है, जिसे महिलाये अधिक उत्तेजित होती है।

क्या भारत में लिंग खिलौना लोकप्रिय है?

क्या भारत में लिंग खिलौना लोकप्रिय है?

प्राचीन काल से हम देखे तो सेक्स अलग अलग प्रकार से होता था, प्राचीन गुफाओं वे कामसूत्रः पुस्तक में विभिन प्रकार से सेक्स क्रियाओं को दर्शाया गयाहै।भले ही भारत सेक्स को गलत मना जाता है।परन्तु प्राचीन काल से भारत में सेक्स होता आया है,इसका उदारण हमें अजंता की गुफाओं से मिलता है। इसके लिए लोग खिलौना भी इस्तेमाल करते थे,पुराने समय सेक्स खिलोने लकड़ी,ताँबे,स्टील, के होते थे लोग अपनी सेक्स संतुष्टि इन मास्टरबेटर खिलौने खिलोने के माध्यम से पूरी करते थे। महिलाये लकड़ी वे अन्य धातु के लिंग के खिलोनो का इस्तेमाल करती थी। आज कल बहुत ही अलग अलग प्रकार के सेक्स खिलोने बाजार में उपलब्ध है। विदेशो की तरह भारत भी सेक्स खिलोनो का व्यापार बन गया है।खिलौनों का बाजार आज का सबसे बडा एंटरटेनमेंट बाजार बनने जा रहा है। इसमें सेक्स से जुडे हर तरह के खिलौनों का समावेश होगा। साथ ही सेक्स खिलौनें से आपके पार्टनर में आप खोया हुआ जोश पा सकते हैं। इसके उपयोग से उनमें नई स्फूर्ति और नई ताजगी के साथ ज्यादा समय एक दूसरे के साथ बिता सकते है। विश्वास खो चुके साथी इन खिलौनों के साथ अपने पार्टनर में नया आनंद पा सकते है। लिंग खिलोने अलग अलग प्रकार के होते है।खासकर महिलाये पुरुषो के लिंग खिलौना इस्तेमाल ज्यादा करती है।लिंग खिलोनो के उपयोग से पुरुष महिलाओ के साथ ज्यादा समय तक सेक्स करते है।